Home » News » अंधेरे में जिला अस्पताल, मरीज बेहाल
mmg hospital ghaziabad

अंधेरे में जिला अस्पताल, मरीज बेहाल

जांच और एक्सरे के लिए 5 घंटे तक करना पड़ा इंतजार

गाजियाबाद: जिला अस्पताल एमएमजी में बुधवार देर रात एक बजे के बाद से ही बिजली गुल रही। हैरानी कि बात यह है कि बिजली विभाग के अधिकारियों को इसकी जानकारी ही नहीं थी। बुधवार रात एक बजे बिजली गुल हुई और वीरवार दोपहर 12:30 बजे के करीब आई। अस्पताल के दोनों जेनरेटर सही नहीं होने के कारण इस दौरान मरीजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। वहीं अमरनाथ यात्रा पर जा रहे लोगों को अल्ट्रासाउंड, जांच और एक्सरे के लिए 5 घंटे तक इंतजार करना पड़ा।

बिजली न होने से ओपीडी के साथ अस्पताल स्टाफ को भी दिक्कत हुई। इस दौरान दो दर्जन से अधिक लोग बिना एक्सरे के ही लौट गए। पैथ लैब में सैंपल तो लिए गए, लेकिन लाइट न होने से जांच रिपोर्ट नहीं मिल पाई। मरीजों के साथ गुरुवार अमरनाथ यात्रा पर जा रहे लोग भी अपनी जांच कराने पहुंचे थे। बता दें कि अब जिला अस्पताल में तमाम जांच की रिपोर्ट एक घंटे में ही  मिल जाती है, लेकिन वीरवार को लोगों को काफी इंतजार करना पड़ा।

अस्पताज में सैकड़ों लोगों को हुई दिक्कत

अस्पताल में अल्ट्रासाउंड, जांच और एक्सरे के लिए हर रोज करीब 200 लोग आते हैं। वहीं वीरवार को 15 अमरनाथ यात्री भी जांच के लिए पहुंचे थे। सुबह करीब 8 बजे अस्पताल शुरू हो जाता है, जिसके चलते पांच घंटे  तक लोगों को परेशान होना पड़ा। अमरनाथ यात्रियों ने लैब से रिपोर्ट न मिलने पर हंगामा भी किया। इन लोगों ने सीएमएस जे.के त्यागी के कार्यालय के बाहर शोर मचाना शुरू किया तो सीएमएस ने उनको समझाकर शांत कराया।

आंधी-पानी के बाद बाधित हुई बिजली सप्लाई

एमएमजी अस्तपाल को अलग फीडर से 24 घंटे की सप्लाई दी जाती है। एक्सईएन ने बताया कि बुधवार देर रात आंधी के चलते फॉल्ट हो गया था। सूचना मिलते ही इसे ठीक करा दिया गया। अस्पताल में दो जेनरेटर हैं। एक की बैटरी कुछ महीने पहले चोरी हुई थी, जिसकी व्यवस्था अभी तक नहीं हो सकी। बुधवार रात दूसरा जेनरेटर चलाया गया, लेकिन उसमे तकनीकी खामी आ गई।

About Rohit Saini

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

flowmomstudio.com